Nigahein Milane Ko Lyrics from the Movie Parai Aag (1948), sung by Mohammed Rafi. The song is composed by Ghulam Mohammad and the lyrics are penned by Tanvir Naqvi. Discover more songs lyrics...

Nigahein Milane Ko Lyrics from Movie Parai Aag (1948) sung by Mohammed Rafi. Learn, Nigahein Milane Ko Lyrics meaning in English/Hindi

Movie/album: Parai Aag (1948)
Singers: Mohammed Rafi
Song Lyricists: Tanvir Naqvi
Music Composer: Ghulam Mohammad
Music Director: Ghulam Mohammad
Director: Najam Naqvi
Music Label: Saregama
Starring: Ulhas, Madhubala, Munawar Sultana, Sheri, Raj Talwar

Nigahein Milane Ko ji Song Lyrics

Nigahein milane ko jee chahta hai
Nigahein milane ko jee chahta hai
Tujhe aazmane ko jee chahata hai
Tujhe aazmane ko jee chahata hai
Nigahein milane ko jee chahta hai

Agar dur se ham tujhe dekhte hai
Agar dur se ham tujhe dekhte hai
Tere paas aane ko jee chahata hai
Tere paas aane ko jee chahata hai
Tujhe aazmane ko jee chahata hai
Tujhe aazmane ko jee chahata hai
Nigahein milane ko jee chahta hai

Wo baate jo tere tasvvoor se ki hai
Wo baate jo tere tasvvoor se ki hai
Tujhe bhi sunane ko jee chahta hai
Tujhe bhi sunane ko jee chahta hai
Tujhe aazmane ko jee chahata hai
Tujhe aazmane ko jee chahata hai
Nigahein milane ko jee chahta hai

Teri raah mein tere har har kadam par
Teri raah mein tere har har kadam par
Nigahein bichhane ko jee chahta hai
Nigahein bichhane ko jee chahta hai
Tujhe aazmane ko jee chahata hai
Tujhe aazmane ko jee chahata hai
Nigahein milane ko jee chahta hai.

Translated Version


राज की बात है
महफिल में कहें या ना कहें
बस गया है कोई इस दिल में
कहें या ना कहें
कहें या ना कहें

निगाहें मिलाने को जी चाहता है
निगाहें मिलाने को जी चाहता है
ओहोहो निगाहें मिलाने को जी चाहता है
दिल ओ जाँ लुटाने को जी चाहता है
दिल ओ जाँ लुटाने
लुटाने को जी चाहता है
जी चाहता है

वो तोहमत जिसे इश्क कहती है दुनियाँ
वो तोहमत जिसे इश्क कहती है दुनियाँ
कहती है दुनियाँ
वो तोहमत जिसे इश्क कहती है दुनियाँ
वो तोहमत उठाने को जी चाहता है
वो तोहमत उठाने को जी चाहता है
वो तोहमत उठाने
उठाने को जी चाहता है
जी चाहता है

किसी के मनाने में लज्जत वो पायी
किसी के मनाने में लज्जत वो पायी
लज्जत वो पायी
किसी के मनाने में लज्जत वो पायी
(के फिर रूठ जाने को जी चाहता है) -३
दिल ओ जाँ लुटाने को जी चाहता है

वो जलवा जो ओझल भी है सामने भी
वो जलवा जो ओझल भी है सामने भी
है सामने भी
वो जलवा जो ओझल भी है सामने भी
वो जलवा चुराने को जी चाहता है
वो जलवा चुराने को जी चाहता है
वो जलवा चुराने
चुराने को जी चाहता है
जी चाहता है

(वो जलवा चुराने को जी चाहता है) -२

जिस घड़ी मेरी निगाहों को तेरी दीद हुई
वो घड़ी मेरे लिए ऐश की तमहीद हुई
जब कभी मैने तेरा,चाँद सा चेहरा देखा
जब कभी मैने तेरा चाँद सा चेहरा देखा
ईद हो या के ना हो मेरे लिए ईद हुई
आहे ईद हो या के ना हो मेरे लिए ईद हुई

वो जलवा जो ओझल भी है सामने भी
वो जलवा चुराने को जी चाहता है
वो जलवा चुराने को जी चाहता है

मुलाकात का कोई पैगाम दीजे के
छुप छुप के आने को जी चाहता है और
आके न जाने को जी चाहता है
होय आके न जा ने को
जी चाहता है, जी चाहता है

निगाहें मिलाने को जी चाहता है
निगाहें मिलाने को जी चाहता है

Tip: You can learn the meanings of Nigahein Milane Ko Lyrics in English/Hindi by hovering over the highlighted word.


Lyrics provided on Lyricstaal.com are for reference and education purpose only. We don't promote copyright infringement instead, if you enjoy the music then please support the respective artists and buy the original music from the legal music providers such as Apple iTunes, Saavn and Gaana.

ADVERTISEMENT

Nigahein Milane Ko Lyrics Video