Jung Wung Rap Lyrics – Talha Anjum from the Movie , sung by Talha Anjum, Talhah Yunus. The song is composed by and the lyrics are penned by Talha Anjum, Talhah Yunus. Discover more , , songs lyrics...

Jung Wung Rap Lyrics – Talha Anjum from Hindi Rap sung by Talha Anjum, Talhah Yunus. Learn, Jung Wung Rap Lyrics – Talha Anjum meaning in English/Hindi

Singer: Chen-K, Talha Anjum, Talhah Yunus
Lyrics: Chen-K, Talha Anjum, Talhah Yunus
Director: Faizan Afzal
Music: Chen-K, Talha Anjum, Talhah Yunus
Cast: Chen-K, Talha Anjum, Talhah Yunus
Lable: young stunners

Jung Wung Song Lyrics

[Talha Anjum]
Jung se pehle baat kare pichli jung ki
65 ki ya 71 ki
Mere bhai main nahi dene aaya dhamki
Main baat kar raha hak ki
Yeh baat mere dhang ki

Hum dono ko mein
Sarhado se bati hui
Hum dono ki ek dusre pe hati hui
Aur ye sikhata kaun media
Sh*t I’m trying to use my music
As a medium
Ke shaayad log soch ko aazad karein
Civilize tareeke se bethe baat kare
Majhab nahi insaniyat pe insaaf karein
Is gann pale se apne dil dimag saaf kare
Aur bhi toh pome hai is duniya mein
Woh aise kyu nahi ladti
Jaise ladte tum aur main

Subah se dekh raha hoon main internet pe war memes
Kya tumhe zara sa andaza hai what war means
War means yateem ya miskeen
War means.. get off the dream
Tera fauji ya phir mera bro
Maa sabki hoti hai
Rishte naate ki koi sarhad
Maaye sabki roti hai
Lekin rajneeti ke aage
Ye baatein choti lage
Aur nafrat ki nazar se
Sach baat bhi jhooti lage
Aur hum chaahe to ye jung
Kab ki muka de
Lekin hum chaahte hain ki
Aman ko ek mauka dein

Yeh jung wung chhod bantai
Nafrat ki zanjeerein tod mere bhai
Badhna aage hai humein
Sitaron se aage hai jahaan aur bantai (x2)

[Chen-K]
Ek hi mitti ka rang ae ki khoon ye
Jung mein bhi ek jaisa junoon hai
Masle bhi hoobahoo ye kanoon ke
Idhar Zainab udhar Asifa ka noor hai
Aur jitni bhi kaum dono yeh modern
Sagi behan ko ghoorein bhai dabe ye foran
Ladaiyon ke baad bhi ghar mein raunak
Chhupe galiyon mein baap ke pyaar ke 9 rang
Gaur kar bhai ek jaise taur tareeke
Phir majority kyun ek doosre pe bhonkti hai
Talha tu thik hai media ki monopoly
Om Puri ka qaatil Arnab Goswami hai

Gussa bimaari hai
Gussa thukna hoga mulk ki khatir ye
Kyunki jab bhi Pak ya Hind gaali dein
Hathyar bike America China ke
Phir cheekhein maayein bete ki kabron pe
Kaarobar chalein par dikhe khadde sadako pe
Nafratein failayein logon mein kamaaye
Brigadier wagerah yeh soyein bistaron pe
Socho tum maa ke baazuo mein soye ho
Do secondo mein faad dein chhat hawa se drone
Utho to maa ka baazu pada kahin aur ho
Jihaad chhodo maaroge nahi maa ke qaatilon ko
Aatankwaadiyo ka mulk bole sunke kahani
Sabut nahi maujood kyunki bas Pakistani
Fir hudus ki wajah se Africa bhi aatankwaadi
Fir Yahudiyo ke liye Germany aatankwaadi
Peshawar mein laashe 132 thi ji
— ho ya Pulwama district
Ikka ka barah din baad ka na behis
Phir gaaliya doon par
Zameer bole hargiz nahi
Ye jung wung chhod bantai

Yeh jung wung chhod bantai
Nafrat ki zanjeerein tod mere bhai
Badhna aage hai humein
Sitaron se aage hai jahaan aur bantai (x2)

[Talha Yunus]
Jung jung jung jung toh hum roz lade
Kyunki bache aaj bhi sadko pe bhookhe marein
Sukhe pade shakho se jhade patte
Inn baahon mein qatil kab se hamlo ki boli ratke
Phir bhi bhatke
Divide and rule kyun sazishein badhi batke
Soch zara hatke
Main muttasir un bacho se
Jo sadko pe bina ghar ke nithariye nai darte
Roz rozi ke liye koi ek nahi hazaron junge ladte
Koi bhi majhab nahi insaniyat se badke
Hai farak bahut hai farak bahut
Yeh galat bahot
Yeh baatein kadak bahot
Kyuki ye sirf sadak talk
Tere bhi do kaan do hath
Do per, do aankhe, ek naak
Kyu nahi taarikh yaad
Ye sab goron ka khel
Yaar ankhe khol yaar
Sacchai aur jhooth ek
Tarazu mein na tol yaar
Ab bol yaar
Kya kusoor un masoomon ka
Jinke dilon mein
Ab khauf bhara jung ka
Internet pe lade janta
Sab media ka agenda
Magar aaj ye log lahrayenge
Do mulkon ka jhanda
Gehare samandar
Kale badal panchi gayab
Kashmir ahl-e-nazar
Aur main uska saahil
To kyu ye padhe likhe jaahil
Battein kare nile
Dilo mein bhara zehar
Aur mawaako pe jaahir

Translated Version


[Talha Anjum]
जुंग से पहले बात करे पिछली जुंग की
65 की या 71 ki
मेरे भाई मैं नहीं देने आया धमकी
मैं बात कर रहा हक़ की
यह बात मेरे ढंग की

हम दोनों को में
सरहदों से बाती हुई
हम दोनों की एक दूसरे पे हटी हुई
और ये सिखाता कौन मीडिया
Sh*t I'm ट्राइंग to उसे माय म्यूजिक
अस ा मध्यम
के शायद लोग सोच को आज़ाद करें
सविलीज़े तरीके से बैठे बात करे
मजहब नहीं इंसानियत पे इन्साफ करें
इस गण पीला से अपने दिल दिमाग साफ़ करे
और भी तोह पोमे है इस दुनिया में
वह ऐसे क्यों नहीं लड़ती
जैसे लड़ते तुम और मैं

सुबह से देख रहा हूँ मैं इंटरनेट पे वॉर मेमेस
क्या तुम्हे ज़रा सा अंदाज़ा है व्हाट वॉर मीन्स
वॉर मीन्स यतीम या मिस्कीन
वॉर मीन्स . . गेट ऑफ थे ड्रीम
तेरा फौजी या फिर मेरा बीआरओ
माँ सबकी होती है
रिश्ते नाते की कोई सरहद
माये सबकी रोटी है
लेकिन राजनीती के आगे
ये बातेंन छोटी लगे
और नफरत की नज़र से
सच बात भी झूटी लगे
अउ r हम चाहे तो ये जुंग
कब की मुका दे
लेकिन हम चाहतइ हैं की
अमन को एक मौका दें

यह जुंग वूंग छोड़ बनते
नफरत की ज़ंजीरें तोड़ मेरे भाई
बढ़ना आगे है हमें
सितारों से आगे है जहां और बनते (x2)

[Chen-K]
एक ही मिटटी का रंग ऐ की खून ये
जुंग में भी एक जैसा जूनून है
मसले भी हूबहू ये कानून के
इधर ज़ैनब उधर आसिफा का नूर है
और जितनी भी कौम दोनों यह मॉडर्न
सगी बहिन को घूरें भाई दबे ये फ़ौरन
लड़ाइयों के बाद भी घर में रौनक
छुपे गलियों में n बाप के प्यार के 9 रंग
गौर कर भाई एक जैसे तौर तरीके
फिर मेजोरिटी क्यों एक दुसरे पे भोंकती है
तल्हा तू ठीक है मीडिया की मोनोपोली
ॐ पूरी का क़ातिल अर्नब गोस्वामी है

गुस्सा बिमारी है
गुस्सा थूकना होगा मुल्क की खातिर ये
क्यूंकि जब भी पाक या हिन्द गाली दें
हथ्यार बाइक अमेरिका चीन के
फिर चीखें मायें बेटे की कब्रों पे
कारोबार चलें पर दिखे क हड्डी सडको पे
नफ़रतें फैलाएं लोगों में कमाए
ब्रिगेडियर वगैरह यह सोएं बिस्तरों पे
सोचो तुम माँ के बाज़ुओ में सोये हो
दो सेकड़ो में फाड़ दें छत हवा से ड्रोन
उठो तो माँ का बाज़ू पड़ा कहीं और हो
जिहाद छोडो मारोगे नहीं माँ के क़ातिलों को
आतंकवादियों का mulk बोले सुनके कहानी
साबुत नहीं मौजूद क्यूंकि बस पाकिस्तानी
फिर हुदूस की वजह से अफ्रीका भी आतंकवादी
फिर यहूदियों के लिए जर्मनी आतंकवादी
पेशावर में लाशें 132 थी जी
--- हो या पुलवामा डिस्ट्रिक्ट
इक्का का बारह दिन बाद का न बेहिस
फिर गालिया दूँ पर
ज़मीर बोले हरगिज़ नहीं
ये जुंग वूंग छोड़ बनते

यह जुंग वूंग छोड़ बनते
नफरत की ज़णजॅ ेरें तोड़ मेरे भाई
बढ़ना आगे है हमें
सितारों से आगे है जहां और बनते (x2)

[तल्हा यूनुस ]
जुंग जुंग जुंग जुंग तोह हम रोज़ लाडे
क्यूंकि बचे आज भी सड़को पे भूखे मारें
सूखे पड़े शाखा से झड़े पत्ते
इन् बाहों में कटी।l कब से हमलो की बोली रातके
फिर भी भटके
डिवाइड एंड रूल क्यों साज़िशें बढ़ी बातके
सोच ज़रा हटके
मैं मुत्तासिर उन बचो से
जो सड़को पे बिना घर के निथरिये नै डरते
रोज़ रोज़ी के लिए कोई एक नहीं हज़ारों जंगे लड़ते
कोई भी मजहब नहीं इंसानियत से बड़के
है फरक बहुत है फरक बहुत
यह बातें कड़क बहोत
क्युकी ये सिर्फ सड़क टॉक
तेरे भी दो कान दो हाथ
दो पैर , दो आँखे , एक नाक
क्यों नहीं तारीख याद
ये सब गोरों का खेल
यार आंखे खोल यार
सच्चाई और झूठ एक
तराज़ू में न टोल यार
अब ० बोल यार
क्या कुसूर उन मासूमों का
जिनके दिलों में
अब खौफ भरा जुंग का
इंटरनेट पे लाडे जनता
सब मीडिया का एजेंडा
मगर आज ये लोग लहरायेंगे
दो मुल्कों का झंडा
गहरे समंदर
काळा बदल पंछी गायब
कश्मीर अहल -इ -नज़र
और मैं उसका साहिल
तो क्यों ये पढ़े लिखे जाहिल
बाटें करे नील
दिलो में भरा ज़हर
और मावाको पे जाहिर

Tip: You can learn the meanings of Jung Wung Rap Lyrics – Talha Anjum in English/Hindi by hovering over the highlighted word.


Lyrics provided on Lyricstaal.com are for reference and education purpose only. We don't promote copyright infringement instead, if you enjoy the music then please support the respective artists and buy the original music from the legal music providers such as Apple iTunes, Saavn and Gaana.

ADVERTISEMENT

Jung Wung Rap Lyrics – Talha Anjum Video